CBSE टॉपर अंजलि का सपना डॉक्टर बनना: बोली- जरूरतमंदों की मदद करूंगी; माता-पिता ने कहा- बेटियां बोझ नहीं होती

महेंद्रगढ़3 घंटे पहले

CBSE के शुक्रवार को जारी हुए कक्षा 10वीं के रिजल्ट में महेंद्रगढ़ जिले के गांव सिलारपुर की रहने वाली छात्रा अंजलि ने 100 प्रतिशत लेकर देशभर में टॉप किया है। वह इंडस वैली स्कूल दौंगड़ा अहीर की छात्रा है। शुक्रवार को रिजल्ट आया तो होनहार बेटी की सफलता पर पूरा स्कूल झूम उठा। स्कूल स्टाफ के साथ बच्चे और अंजलि भी जमकर नाची। वह डॉक्टर बनना चाहती है। छात्रा के पिता रामनरेश और माता शर्मिला ने कहा कि उन्हें अपनी बेटी पर गर्व है। बेटी बोझ नहीं होती।

फौजी की बेटी है अंजलि

हरियाणा के ग्रामीण परिवेश में पली बढ़ी और पढ़ी अंजलि ने किसी भी पेपर में एक भी अंक नहीं कटने दिया। ऐच्छिक विषय में भी उसने 100 में से 100 अंक हासिल किए। उसके पिता रामनरेश सेना से सेवानिवृत हैं। दसवीं का रिजल्ट घोषित हुआ तो अपनी छात्रा को देशभर में टॉपर पाकर पूरा स्कूल ही खुशी से झूम उठा। देशभर में अंजलि की टॉप करने की सूचना के बाद उन्हें बधाईयां देने वालों का तांता लगा हुआ है। छात्रा की इस उपलब्धि पर इंडस वैली स्कूल दौंगड़ा अहीर के संस्था चेयरमैन धर्मेन्द्र यादव, उप चेयरमैन विजय सिंह यादव, निदेशक केसी यादव, प्राचार्य जयवीर यादव व उप प्राचार्य वीरसिंह यादव ने खशी जाहिर करते हुए छात्रा अंजलि व उनके माता-पिता को बधाई दी हैं।

सफलता के बाद स्कूल में झूमती अंजलि।

सफलता के बाद स्कूल में झूमती अंजलि।

CBSE 10वीं में हरियाणा के छात्रों ने किया टॉप:अंजलि और पूर्वांशु देश में पहले स्थान पर; किसी सब्जेक्ट में नहीं कटा कोई नंबर

माता-पिता ने किया सपोर्ट

देश में टॉप करने वाली छात्रा अंजलि बताती है कि स्कूल में शिक्षक अच्छी तैयारी कराते थे। पूरा सिलेबस का स्कूल में अच्छे से अभ्यास कराया जाता था। अगर कोई कोई सवाल समझ नहीं आता था तो अच्छे से दोबारा उसे समझते थे तथा समय-समय पर शिक्षक मोटिवेट करते रहते थे। स्कूल के अध्यापकों द्वारा अच्छी तैयारी कराने की वजह से वह केवल घर से आकर जो स्कूल में पढ़ाया गया है उसका रिवाइज करती थी। मेरे माता-पिता समय-समय पर हौसला बढ़ाते रहते थे।

स्कूल के कार्यक्रम में मां-बेटी को सम्मानित किया गया।

स्कूल के कार्यक्रम में मां-बेटी को सम्मानित किया गया।

डॉक्टर बनने का सपना

दसवीं कक्षा की टॉपर अंजलि ने बताया अभी वह नीट की परीक्षा की तैयारी कर रहीं है। वह डॉक्टर बनकर देश की सेवा करना चाहती है। डॉक्टर बनने के बाद वह जरूरतमंद की मदद करेंगी। अंजलि ने बताया कि उनके पिता रामनरेश एक रिटायर्ड सैनिक है तथा माता उर्मिला देवी गृहणी है। वह पढ़कर लिखकर अपने माता-पिता का नाम रोशन करना चाहती है।

खबरें और भी हैं…