हिमाचल में 3 निर्दलीय विधायकों के इस्तीफे स्वीकार: राज्यसभा चुनाव में BJP के पक्ष में की थी वोटिंग, तीनों भाजपा जॉइन कर चुके – Shimla News

हिमाचल के स्पीकर कुलदीप सिंह पठानिया ने 3 निर्दलीय विधायकों का इस्तीफा मंजूर कर लिया है। नालागढ़ के विधायक केएल ठाकुर, देहरा के विधायक होशियार सिंह और हमीरपुर के विधायक आशीष शर्मा ने 22 मार्च को विधानसभा स्पीकर कुलदीप सिंह पठानिया और सचिव यशपाल को इस्

.

विधानसभा में कुल 68 सीटें हैं। 6 विधानसभा सीटों पर एक जून को उपचुनाव के लिए वोटिंग हो चुकी है। यहां 4 जून को रिजल्ट आएगा। 3 निर्दलीय विधायकों के इस्तीफे मंजूर होने के बाद अब विधानसभा की मौजूदा दलीय स्थिति 59 हो गई है। कांग्रेस के पास 34 विधायक हैं, जबकि भाजपा के पास 25 विधायक हैं।

राज्यसभा चुनाव से शुरू हुआ विवाद
विवाद राज्यसभा चुनाव में वोटिंग को लेकर शुरू हुआ था। तीनों विधायकों ने चुनाव में भाजपा प्रत्याशी हर्ष महाजन को वोट दिया था। इससे बहुमत वाली कांग्रेस सरकार चुनाव हार गई। चुनाव से पहले तीनों निर्दलीय विधायक सरकार के साथ एसोसिएट के तौर पर काम कर रहे थे।

इस्तीफा स्वीकार न करने को लेकर विधायकों ने विधानसभा में धरना भी दिया था। विधायकों का आरोप था कि जानबूझकर उनके इस्तीफे स्वीकर नहीं किए जा रहे। इसके अलावा हाईकोर्ट में भी याचिका लगाई गई थी। सोमवार को विधायकों के इस्तीफे पर सुनवाई के बाद स्पीकर ने अपना फैसला सुना दिया।

भाजपा के टिकट पर ये उम्मीदवार विधानसभा उपचुनाव लड़ रहे हैं।

भाजपा के टिकट पर ये उम्मीदवार विधानसभा उपचुनाव लड़ रहे हैं।

कांग्रेस के 6 बागी भाजपा के टिकट पर लड़ रहे उपचुनाव
राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के 6 विधायकों ने भी भाजपा के पक्ष में वोटिंग की थी। विधानसभा स्पीकर ने सभी 6 विधायकों की सदस्यता रद्द कर दी थी।

इसके बाद सुजानपुर से 3 बार से विधायक रहे राजेंद्र राणा, लाहौल स्पीति से 2 बार के विधायक रहे रवि ठाकुर, बड़सर से 3 बार के विधायक रहे इंद्रदत्त लखनपाल, कुटलैहड़ से देवेंद्र कुमार भुट्‌टों और गगरेट से चैतन्य शर्मा ने भी दिल्ली में भाजपा जॉइन कर ली थी। उपुचनाव का ऐलान होने के बाद भाजपा ने कांग्रेस के 6 बागियों को ही उम्मीदवार घोषित कर दिया।