संसद के शीतकालीन सत्र का सातवां दिन: कांग्रेस सांसद धीरज साहू के पास मिले 350 करोड़ कैश और पेरियार के जिक्र पर हंगामा संभव

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

संसद के शीतकालीन सत्र का आज (12 दिसंबर) सातवां दिन है। लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही सुबह 11 बजे से शुरू होगी। संसद में आज भी कांग्रेस सांसद धीरज साहू के घर छापों में मिले 354 करोड़, धारा 370 पर फैसला बरकरार रखने और पेरियार के विचारों के संसद में पहुंचने पर हंगामा हो सकता है।

इससे पहले छठे दिन राज्यसभा की कार्यवाही हंगामेदार रही। गृहमंत्री ने जम्मू-कश्मीर आरक्षण (संशोधन) और पुनर्गठन (संशोधन) 2023 बिल पेश किए।

इनके खिलाफ DMK सांसद एम अबदुल्ला ने पेरियार के देश बांटने वाले विचार बयान में शामिल किए। इस पर चेयरमैन जगदीप धनखड़ ने सख्ती दिखाते हुए कहा- देशविरोधी बातों की संसद में जगह नहीं।

ये दोनों बिल राज्यसभा से पास हो चुके हैं। यानी अब जम्मू में 43, कश्मीर में 47 विधानसभा सीटें होंगी। सीटें बढ़कर 90 होंगी।

वहीं 24 सीटें PoK के लिए रिजर्व की गई हैं। संसद में कश्मीरी पंडितों के लिए 2 और PoK विस्थापितों की 1 सीट भी रिजर्व होंगी।

अमित शाह ने विपक्ष को चेतावनी दी
राज्यसभा में बहस के दौरान अमित शाह ने धारा 370 हटाने का विरोध कर रहे विपक्ष को चेतावनी दी कि गलती किसी से भी हो सकती है। लौट आइए, नहीं तो जितने हो, उतने भी नहीं बचोगे। कांग्रेस अब भी 370 हटाने के फैसले को गलत बता रही है। वह कभी अच्छे काम का समर्थन नहीं करती। दरअसल, पूरे दिन बिल पर बहस के दौरान विपक्ष सुप्रीम कोर्ट के फैसले को गलत ठहराता रहा। अमित शाह के जवाब के दौरान भी विपक्ष ने राज्यसभा से वॉकआउट कर दिया।

22 दिसंबर तक चलेगा सत्र
संसद का शीतकालीन सत्र 4 दिसंबर से शुरू हुआ है, जो 22 दिसंबर तक चलेगा। इस शीतकालीन सत्र में कुल 15 बैठकें होंगी। इन बैठकों के दौरान IPC, CrPC और एविडेंस एक्ट के प्रावधानों में बदलावों पर भी चर्चा होनी है। गौरतलब है कि यह 17वीं लोकसभा का 14वां सत्र है।

शीतकालीन सत्र की पिछले 6 दिन की कार्यवाही में क्या-क्या हुआ…

पहले दिन- PM मोदी बोले- पराजय का गुस्सा सदन में न निकालें

संसद का शीतकालीन सत्र सोमवार 4 दिसंबर से शुरू हुआ। लोकसभा में PM नरेंद्र मोदी के पहुंचते ही NDA के सांसदों ने उनका जोरदार स्वागत किया था। सत्र शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष से कहा था- बाहर मिली पराजय का गुस्सा सदन में मत निकालिए। पढ़ें पूरी खबर…

दूसरे दिन- DMK नेता के गोमूत्र स्टेट्स वाले बयान पर हंगामा, बाहर आकर माफी मांगी

दूसरे दिन (5 दिसंबर) लोकसभा में गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर आरक्षण संशोधन बिल पेश किया था। चर्चा के दौरान धर्मपुरी से DMK सांसद डॉ. सेंथिल कुमार ने कहा था कि भाजपा की ताकत केवल हिंदी बेल्ट के उन राज्यों को जीतने में ही है, जिन्हें हम आमतौर पर गोमूत्र राज्य कहते हैं। हंगामा बढ़ने के बाद रिकॉर्ड से यह बयान हटा दिया गया था। पढ़ें पूरी खबर…

तीसरे दिन- अमित शाह ने लोकसभा में नेहरू की चिट्ठी पढ़ी

तीसरे दिन (6 दिसंबर) को लोकसभा में जम्मू-कश्मीर आरक्षण (संशोधन) बिल और जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) बिल पास हो गए थे। सदन में चर्चा के दौरान अमित शाह ने जवाहर लाल नेहरू को कोट किया था। गृह मंत्री ने कहा- ‘नेहरू ने शेख अब्दुल्ला को लिखा था कि कश्मीर मुद्दा यूएन ले जाना गलती थी।’ पढ़ें पूरी खबर…

चौथे दिन- भाजपा के रमेश बिधूड़ी ने माफी मांगी; राज्यसभा में धनखड़ ने जताया दुख

चौथे दिन (7 दिसंबर) को लोकसभा में सेंट्रल यूनिवर्सिटी अमेंडमेंट बिल 2023 पास हो गया था। इस बीच, भाजपा सांसद रमेश बिधूड़ी ने संसदीय समिति से माफी मांगी थी। विशेष सत्र के दौरान में बिधूड़ी ने सपा सांसद दानिश अली पर अपमानजनक टिप्पणी की थी। उधर, राज्यसभा में सभापति जगदीप धनखड़ ने वायरल वीडियो पर दुख जताया था। पढ़ें पूरी खबर…

पांचवे दिन- लोकसभा से TMC सांसद महुआ मोइत्रा का निष्कासन

संसद के पांचवें दिन महुआ मोइत्रा पर पैसे लेकर सवाल पूछने के आरोप में पहले एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट और फिर निष्कासन प्रस्ताव पेश हुआ। वोटिंग के बाद महुआ की लोकसभा से सदस्यता रद्द होग गई।हालांकि महुआ के खिलाफ सदन में वोटिंग शुरू होते ही विपक्ष ने बॉयकॉट कर दिया था। पूरी खबर पढ़ें…

छठे दिन- जम्मू-कश्मीर आरक्षण और पुनर्गठन संशोधन बिल राज्यसभा से पास

गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर आरक्षण (संशोधन) और जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक 2023 पेश किए। इसी दिन सुप्रीम कोर्ट ने 370 हटाने के खिलाफ लगी याचिकाओं पर फैसला सुनाया, जिस पर विपक्ष ने दोनों सदन में हंगामा किया। राज्यसभा से वॉकआउट कर गया। इसके बाद बिलाें पर वोटिंग हुई और दोनों बिल राज्यसभा से भी पास हो गए। पढ़ें पूरी खबर…