ममता बोलीं- मोदी का ध्यान टेलिकास्ट हुआ तो शिकायत करूंगी: सिब्बल बोले- प्रायश्चित करने जा रहे तो अच्छा है; PM कन्याकुमारी में 48 घंटे ध्यान लगाएंगे

  • Hindi News
  • National
  • Kapil Sibal Vs PM Narendra Modi; Kanyakumari Rock Memorial Controversy | Lok Sabha Election

नई दिल्ली40 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
PM मोदी ने 2019 में आखिरी फेज की वोटिंग से पहले केदारनाथ की रुद्र गुफा में 17 घंटे ध्यान लगाया था। - Dainik Bhaskar

PM मोदी ने 2019 में आखिरी फेज की वोटिंग से पहले केदारनाथ की रुद्र गुफा में 17 घंटे ध्यान लगाया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कन्याकुमारी के रॉक मेमोरियल पर ध्यान लगाने की खबर के सामने आने बाद विपक्ष हमलावर हो गया है। राज्यसभा सांसद और पूर्व कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि अगर पीएम वहां प्रायश्चित करने जा रहे हैं, तो अच्छा है क्योंकि जिस इंसान को विवेक का अर्थ ही नहीं पता, वह क्या ध्यान लगाएगा।

वहीं TMC सुप्रीमो और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि अगर नरेंद्र मोदी के इस ध्यान को टेलिविजन पर दिखाया गया तो उनकी पार्टी इलेक्शन कमीशन में शिकायत दर्ज कराएगी। ममता का कहना है कि ध्यान का टेलिकास्ट करने से आचार संहिता का उल्लंघन होगा।

पीएम मोदी का 30 मई की शाम तक तमिलनाडु के कन्याकुमारी पहुंचने का कार्यक्रम है। न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक वे विवेकानंद रॉक मेमोरियल पर 48 घंटे (30 मई की रात से 1 जून की शाम तक) ध्यान लगाएंगे। मोदी 2019 में आखिरी फेज की वोटिंग से पहले केदारनाथ गए थे। वहां बनी रुद्र गुफा में 17 घंटे ध्यान लगाया था।

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में 57 लोकसभा सीटों के लिए 1 जून को मतदान होना है। इन सीटों के लिए चुनाव प्रचार 30 मई की शाम 5 बजे थम जाएगा।

कन्याकुमारी स्थित विवेकानंद रॉक जहां मोदी ध्यान लगाने पहुंचेंगे।

कन्याकुमारी स्थित विवेकानंद रॉक जहां मोदी ध्यान लगाने पहुंचेंगे।

ममता बोलीं- ध्यान के समय कैमरा ले जाना जरूरी है क्या
ममता ने कहा कि मोदी ध्यान लगा सकते हैं, लेकिन टेलिविजन पर उसे दिखाया नहीं जा सकता है। हम इसकी शिकायत करेंगे। क्या किसी को ध्यान करने के लिए कैमरा ले जाने की जरूरत होती है। कैंपेन का समय खत्म होने और चुनाव की तारीख के बीच यह कैंपेन करने का ही एक तरीका है।

पर्यटकों के लिए तीन दिन बंद रहेगा विवेकानंद स्मारक
मंगलवार को मोदी के दौरे की सूचना के बाद कन्याकुमारी पुलिस ने विवेकानंद रॉक पर सुरक्षा घेरा बनाया है। एसपीजी टीम 29 मई को दोपहर 12 बजे तक पहुंचेगी। हर दिन करीब 1 हजार पर्यटक विवेकानंद स्मारक पहुंचते हैं, लेकिन 29 मई से 1 जून शाम तक स्मारक पर्यटकों के लिए बंद रहेगा।

पीएम मोदी पंजाब के होशियारपुर में मौजूदा अभियान की आखिरी चुनावी सभा कर सीधे तमिलनाडु के कन्याकुमारी निकल जाएंगे। यहां से वे समुद्र तट से 500 मी. भीतर स्थित विवेकानंद रॉक पर पहुंचेंगे और ध्यान करेंगे। पीएम ध्यान के दौरान कुछ देर आराम करेंगे या नहीं, स्थानीय प्रशासन ने अभी यह स्पष्ट नहीं किया है।

रोजाना करीब 1 हजार पर्यटक विवेकानंद स्मारक पहुंचते हैं, लेकिन 29 मई से 1 जून शाम तक स्मारक पर्यटकों के लिए बंद रहेगा।

रोजाना करीब 1 हजार पर्यटक विवेकानंद स्मारक पहुंचते हैं, लेकिन 29 मई से 1 जून शाम तक स्मारक पर्यटकों के लिए बंद रहेगा।

विवेकानंद रॉक ​​​​​​के बारे में जानिए…

  • विवेकानंद रॉक तमिलनाडु के कन्याकुमारी में समुद्र में स्थित एक स्मारक है। यह एक फेमस टूरिस्ट स्पॉट है। यह जमीन तट से करीब 500 मीटर अंदर समुद्र में दो चट्टानों के ऊपर बना है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह रहे एकनाथ रानडे ने विवेकानंद शिला पर विवेकानंद स्मारक मंदिर बनाने में अहम भूमिका निभाई।
  • 2 सितंबर 1970 को भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. वीवी गिरि ने स्मारक का उद्घाटन किया। उद्घाटन समारोह 2 महीने तक चला। इसमें तत्कालीन PM इंदिरा गांधी भी शामिल हुई थीं।
  • अप्रैल में पड़ने वाली चैत्र पूर्णिमा पर यहां चन्द्रमा और सूर्य दोनों एक साथ एक ही क्षितिज पर आमने-सामने दिखाई देते हैं। इस स्मारक का प्रवेश द्वार अजंता और एलोरा गुफा मन्दिरों के समान है, जबकि इसका मण्डपम बेलूर (कर्नाटक) के श्री रामकृष्ण मन्दिर के समान है।
  • पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने भी 22 सितंबर 2006 को यहां दो घंटे ध्यान किया था।

स्वामी विवेकानंद ने यहां ध्यान किया

कहा जाता है कि 1893 में विश्व धर्म सभा में शामिल होने से पहले दिसंबर 1892 में विवेकानंद तमिलनाडु के कन्याकुमारी गए थे। यहां समुद्र में 500 मीटर दूर पानी के बीच में उन्हें एक विशाल शिला दिखी, जहां तक वे तैरकर पहुंचे और ध्यानमग्न हो गए। वे 25, 26 और 27 दिसंबर को लगातार तीन दिन ध्यान में रहे। यहीं उन्हें भारत माता की दिव्य अवधारणा की अनुभूति हुई थी।

फोटोज में मोदी की 2019 लोकसभा चुनाव के आखिरी फेज की वोटिंग के पहले की केदारनाथ यात्रा:

केदारनाथ की रुद्र गुफा में ध्यान लगाने जाते मोदी।

केदारनाथ की रुद्र गुफा में ध्यान लगाने जाते मोदी।

मोदी ने रुद्र गुफा में करीब 17 घंटे ध्यान लगाया।

मोदी ने रुद्र गुफा में करीब 17 घंटे ध्यान लगाया।

ध्यान लगाने के बाद गुफा से बाहर निकलते मोदी।

ध्यान लगाने के बाद गुफा से बाहर निकलते मोदी।

ध्यान लगाने के बाद मोदी ने बद्रीनाथ जाकर मंदिर में दर्शन किए।

ध्यान लगाने के बाद मोदी ने बद्रीनाथ जाकर मंदिर में दर्शन किए।

ये खबरें भी पढ़ें…

मोदी बोले- TMC के गुंडे मठों पर हमला कर रहे:इस्कॉन को गाली दे रहे, ऐसी पार्टी बंगाल की संस्कृति की रक्षा नहीं कर सकती

लोकसभा चुनाव के प्रचार के लिए प्रधानमंत्री मोदी बुधवार को पश्चिम बंगाल और ओडिशा के दौरे पर हैं। बंगाल के मथुरापुर में रैली के दौरान उन्होंने पश्चिम बंगाल की TMC सरकार की नीतियों की आलोचना की।

34 मिनट के भाषण में उन्होंने बंगाल के विकास और कांग्रेस काल के भारत का भी जिक्र किया। मोदी ने कहा- TMC बंगाल की पहचान को खत्म करने में लगी है। ये बंगाल के मठों को, साधु संतों तक को नहीं छोड़ रहे। पूरी खबर यहां पढ़ें…

मोदी बोले- TMC ने CAA के खिलाफ झूठ फैलाया:कोई भी ताकत इस कानून को लागू होने से रोक नहीं सकती, ये मेरी गारंटी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28 मई को पश्चिम बंगाल के बारासात में चुनावी रैली की। उन्होंने कहा कि तुष्टीकरण की राजनीति के कारण TMC ने CAA के खिलाफ झूठ फैलाया है। लेकिन आज पूरा देश देख रहा है कि सैकड़ों शरणार्थियों को नागरिकता मिल गई है। ये नागरिकता देश का संविधान दे रहा है।

मोदी ने कहा कि मैं आपको एक और गारंटी दूंगा कि TMC तो क्या, दुनिया की कोई भी ताकत CAA लागू होने से नहीं रोक सकती। पूरी खबर यहां पढ़ें…

खबरें और भी हैं…