मटकी फोड़ देखने गई दलित लड़की की पिटाई, गालियां दीं: खंडवा में 6 महिलाओं समेत 9 लोगों ने लात-घूंसों से मारा; अस्पताल में भर्ती

खंडवा3 घंटे पहले

दलित मासूम जिसे पीटा गया।

खंडवा में मंदिर के सामने से निकलने पर 9 लोगों ने 15 साल की दलित लड़की को बुरी तरह पीट दिया। महिला और पुरुष उस पर सामूहिक रूप से टूट पड़े। लात-घूंसों से उसे इतना मारा कि उसकी पसली में गंभीर चोट आ गई। लड़की का खालवा के सरकारी अस्पताल में इलाज चल रहा है। घटना 19 अगस्त की रात की है। पुलिस ने 9 आरोपियों पर केस दर्ज किया है। इनमें 6 महिलाएं हैं। सभी आरोपियों को थाने से जमानत मिल चुकी है।

खबर आगे पढ़ने से पहले आप इस पोल पर राय दे सकते हैं…

मामला आदिवासी बहुल क्षेत्र खालवा के भोगांवा गांव का है। पीड़िता प्रियंका कटारे ने दैनिक भास्कर को बताया, 19 अगस्त को जन्माष्टमी की रात गांव के भीलट बाबा मंदिर के पास मटकी फोड़ कार्यक्रम चल रहा था। वहां उमा माली, संतोष माली, गणेश माली, कमल माली, सुनीता माली, अनिता माली, क्षमा माली और राधु माली कार्यक्रम में थी। मैं वहां से अपने घर की तरफ जा रही थी। शारदा, क्षमा और राधु बोलीं- ये नीच जाति की मंदिर के सामने हमारे कार्यक्रम में कैसे आ गई। तब मैंने शारदा से कहा- तुम मुझसे भेदभाव कर रही हो। इसी बात को लेकर कमला और गणेश ने मुझे जाति सूचक गालियां दीं। दोनों ने मुझे डंडे से मारा। इससे दाहिने तरफ की पसली में चोट लगी है।

मंदिर के सामने से गुजरने पर 15 साल की लड़की को बुरी तरह पीटा गया। मारपीट से लड़की की पसली में चोट आई है।

मंदिर के सामने से गुजरने पर 15 साल की लड़की को बुरी तरह पीटा गया। मारपीट से लड़की की पसली में चोट आई है।

चिल्लाने की आवाज सुनकर दौड़ती आई मां-बहन
पीड़िता ने बताया, शारदा बाई, अनिता बाई और क्षमा बाई ने लात-घूसों से मारा। वहां पर जितने भी लोग मौजूद थे, सभी ने मारपीट की। मेरे रोने और चिल्लाने की आवाज सुनकर बड़ी बहन, मां और रिश्तेदार आ गए। मुझे भीड़ से बचाकर ले गए। आरोपियों ने कहा कि दोबारा कार्यक्रम में आना मत, नहीं तो जान से मार देंगे।

जान से मारने की धमकी दी, तब कराई FIR
पीड़िता की इंदौर निवासी बड़ी बहन ने बताया कि शुरू में हम लोग इसलिए खामोश रहे, ताकि विवाद आगे न बढ़ जाए। लेकिन आरोपी पक्ष ने समझौते का दबाव बनाकर जान से मारने की धमकी दी। दूसरी तरफ, मारपीट में आई चोटों के कारण बहन दर्द बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी।

खबरें और भी हैं…