बाढ़ में सीएम योगी का रेड कार्पेट वेलकम: TRS नेता का तंज- यही है डबल इंजन वाली सोच; NSUI बोली- पीड़ितों के साथ मजाक

वाराणसी2 घंटे पहले

सीएम योगी आदित्यनाथ बुधवार को बाढ़ का दौरा करने के लिए वाराणसी पहुंचे। यहां उन्होंने नाव से बाढ़ प्रभावित इलाकों का निरीक्षण किया। नाव से उतरने के बाद सीएम को अस्सी घाट तक पहुंचाने के लिए प्रशासन ने रेड कार्पेट बिछाया था। कार्पेट वेलकम को लेकर विपक्षी पार्टियां भाजपा सरकार को घेर रही हैं। रेड कार्पेट करीब 50 फीट का लंबा था।

YSR का वह ट्वीट, जिसे लेकर बहस छिड़ गई है। लोग ट्वीट करके गुस्सा जाहिर कर रहे हैं।

YSR का वह ट्वीट, जिसे लेकर बहस छिड़ गई है। लोग ट्वीट करके गुस्सा जाहिर कर रहे हैं।

तेलंगाना राष्ट्र समिति पार्टी (TRS) के सोशल मीडिया कनवेनर वाई. सतीश रेड्डी ने योगी के इस कदम को बाढ़ पीड़ित इलाकों में डूबी जनता के साथ मजाक बताया। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ” बाढ़ निरीक्षण के लिए आए सीएम का रेड कार्पेट पर स्वागत! यही है डबल इंजन वाली सोच।”

खबर में पोल है। आगे बढ़ने से पहले आप इसमें हिस्सा ले सकते हैं।

यह बाढ़ पीड़ितों के साथ मजाक: NSUI
NSUI-BHU इकाई के अध्यक्ष राणा ने भी इस वीडियो को लेकर भाजपा सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ”बाढ़ प्रभावित इलाकों के निरीक्षण के लिए भी जब आपको मखमली रेड कार्पेट की जरूरत है। यह बाढ़ पीड़ितों के साथ मजाक है। बाढ़ पीड़ित हजारों लोग किसी तरह जिंदा रहने की जद्दोजहद कर रहे हैं।”

सपा बोली- बाढ़ प्रभावितों का मजाक उड़ाया जा रहा

सपा ने भी भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। सपा ने कहा, ” रेड कार्पेट प्लेटफार्म बनवाकर बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का सीएम योगी निरीक्षण कर रहे हैं। ये बाढ़ प्रभावितों से मिलने और उन्हें राहत देने जा रहे हैं या फोटोबाजी और पर्यटन का प्रदर्शन किया जा रहा। यह बाढ़ प्रभावितों का मजाक है।”

जहां पानी कम था वहां बिछाई रेड कार्पेट-प्रशासन
प्रशासन का कहना है, “अस्सी के जिस क्षेत्र में रेड कार्पेट बिछाई गई थी, वहां पानी इतना कम था कि बोट नहीं आ सकती थी। लिहाजा, मुख्यमंत्री को थोड़ा आगे यानी कि जहां से पानी ज्यादा था वहां से बोट में सवार होना पड़ा। एहतियातन, यह कदम उठाया गया था।”

वाराणसी में बाढ़ प्रभावित इलाकों का NDRF की बोट से जायजा लेते सीएम योगी।

वाराणसी में बाढ़ प्रभावित इलाकों का NDRF की बोट से जायजा लेते सीएम योगी।

श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर में सीएम ने की पूजा
इस दौरान सीएम योगी बाढ़ पीड़ितों से मिलकर उनकी समस्याओं को भी जाना। राहत शिविरों का भी निरीक्षण किया। इसके बाद सीएम ने श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन-पूजन किया। यहां से सीएम सर्किट हाउस पहुंचे। यहां पर अधिकारियों के साथ विकास कार्यों के साथ ही बाढ़ की स्थिति और उससे बचाव के लिए तमाम रणनीतियों पर समीक्षा बैठक की।

मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक में कहा, “बाढ़ की स्थिति पूरे सितंबर तक हो सकती है।” इसलिए राहत शिविरों में रहन-सहन और खानपान की एक्स्ट्रा व्यवस्था और सिक्योरिटी का इंतजाम किया जाए। मुख्य रूप से महिला सुरक्षाकर्मियों की तैनाती हो।”

सीएम योगी ने वाराणसी में श्री काशी विश्वनाथ का अभिषेक भी किया।

सीएम योगी ने वाराणसी में श्री काशी विश्वनाथ का अभिषेक भी किया।

सोशल मीडिया पर वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस पर यूजर कमेंट्स कर रहे हैं, आप भी पढ़िए…

खबरें और भी हैं…