जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आतंकियों का मददगार गिरफ्तार: पाकिस्तानी पिस्तौल और चीनी ग्रेनेड बरामद, पुलिस बोली- चुनाव से पहले अशांति फैलाने की आशंका

  • Hindi News
  • National
  • Jammu Kashmir Terrorist Aide Arrested; Headmasker Qamaruddin | Poonch News

श्रीनगर2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
पुलिस और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने साथ में सर्च ऑपरेशन चलाया। - Dainik Bhaskar

पुलिस और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने साथ में सर्च ऑपरेशन चलाया।

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने पुंछ जिले के हरि बुद्ध इलाके से रविवार (21 अप्रैल) को एक स्कूल से आतंकी के मददगार को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि आतंकी का मदद करने वाला कमरुद्दीन स्कूल का हेडमास्टर है। उसके पास से एक पाकिस्तान पिस्तौल और 2 चीनी ग्रिनेड मिले हैं।

पुलिस ने कहा कि सूचना मिलने पर स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SPG) के साथ मिलकर सर्च ऑपरेशन चलाया गया था। इसी दौरान रजिस्टर्ड ओवरग्राउंड वर्कर (OGW) को गिरफ्तार किया गया। हमें आशंका है कि लोकसभा चुनाव से पहले इलाके में अंशाति फैलाने के लिए कुछ प्लानिंग की जा रही थी।

सर्च ऑपरेशन की 2 तस्वीरें

पुलिस को सर्च ऑपरेशन के दौरान पाकिस्तानी पिस्तौल मिली।

पुलिस को सर्च ऑपरेशन के दौरान पाकिस्तानी पिस्तौल मिली।

पुलिस हेडमास्टर के ठिकाने से 2 ग्रेनेड जब्त किए।

पुलिस हेडमास्टर के ठिकाने से 2 ग्रेनेड जब्त किए।

पुलिस को हेडमास्टर पर पहले से शक था
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जम्मू-कश्मीर पुलिस को पहले से ही हेड मास्टर पर शक था, लेकिन सबूत न होने की वजह से कार्रवाई नहीं की गई थी। करीब दो महीने से जम्मू-कश्मीर पुलिस हेडमास्टर की हर एक्टिविटी पर नजर रख रही थी। पुलिस को शक है कि राजौरी-पुंछ में पिछले दिनों हुई आतंकी घटनाओं में कमरुद्दीन का हाथ था।

जम्मू-कश्मीर में लश्कर के कई स्लीपर सेल एक्टिव
जम्मू-कश्मीर में चुनावों से पहले माहौल बिगाड़ने और आतंकी घटनाओं को अंजाम देने के लिए पाकिस्तान से जुड़े आतंकी संगठन साजिश रच रहे हैं। इस मंसूबे को लेकर लश्कर-ए-तैयबा कमांडर जुनैद अहमद बट कुलगाम में छिपा है। भारतीय खुफिया एजेंसियों को पता लगा है कि आने के बाद उसने स्लीपर सेल के गुर्गों के साथ बैठक भी की है।

कश्मीर में सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट पर
सूत्रों के मुताबिक एजेंसियों ने हाल ही में एक सैटेलाइट फोन से हो रही बातचीत को इंटरसेप्ट किया था। इससे पता चला कि कश्मीर पहुंच चुके जुनैद ने अपने स्लीपर सेल से जुड़े गुर्गों को 31 मार्च को कुलगाम के गांव नौबल में एक आतंकी के घर बुलाया था। तब बड़े बगीचे में स्लीपर सेल से जुड़े 6 लोग मौजूद थे। हालांकि, उनकी पहचान नहीं हो सकी। इस मीटिंग की सूचना गृह मंत्रालय को दी गई है। इसके बाद कश्मीर में सुरक्षा एजेंसियों को हाई अलर्ट कर दिया गया है।

रक्षा मंत्री ने कहा था- आतंकियों को पाकिस्तान में घुसकर मारेंगे

​​​​​​​​​​​​राजनाथ सिंह ने 5 अप्रैल को कहा था कि अगर आतंकवादी भारत में शांति भंग करने या आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की कोशिश करते हैं, तो उन्हें करारा जवाब दिया जाएगा। अगर वे पाकिस्तान भाग जाते हैं, तो भारत उन्हें मारने के लिए पड़ोसी देश में घुस जाएगा।

राजनाथ सिंह की यह टिप्पणी ब्रिटेन के गार्जियन अखबार में पब्लिश रिपोर्ट के बाद आई, जिसमें आरोप लगाया गया है कि भारत सरकार ने विदेशी धरती पर रहने वाले आतंकवादियों को खत्म करने की रणनीति के तहत पाकिस्तान में कई लोगों की हत्या की। पढ़ें पूरी खबर…

खबरें और भी हैं…