अमित शाह के एडिटेड वीडियो के खिलाफ FIR दर्ज: सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी, तेलंगाना कांग्रेस ने भी शेयर किया था

  • Hindi News
  • National
  • FIR Filed After BJP Flags Amit Shah’s Doctored Video On Scrapping Reservation

नई दिल्ली1 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
बीजेपी और गृह मंत्रालय की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने केस दर्ज किया है। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

बीजेपी और गृह मंत्रालय की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने केस दर्ज किया है। (फाइल फोटो)

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के एडिटेड वीडियो को लेकर रविवार (28 अप्रैल) को दिल्ली पुलिस ने FIR दर्ज की है। इस वीडियो में शाह कथित तौर पर एससी-एसटी और ओबीसी के आरक्षण को खत्म करने की बात करते दिख रहे हैं। हालांकि, न्यूज एजेंसी PTI के फैक्ट चेक में ये वीडियो फेक साबित हुआ है।

इस एडिटेड वीडियो को फैलाने को लेकर एक शिकायत बीजेपी की ओर से की गई थी, जबकि दूसरी शिकायत गृह मंत्रालय की तरफ से की गई थी। मामले में दिल्ली पुलिस ने IPC की धारा 153/153A/465/469/171G और IT एक्ट की धारा 66C के तहत केस दर्ज किया है। इस एडिटेड वीडियो को लेकर बीजेपी ने देशभर में FIR दर्ज करने का फैसला किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सोशल मीडिया पर इस वीडियो को शेयर करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है।

FIR की कॉपी …

BJP ने वीडियो को बताया फर्जी
पुलिस को दी शिकायत में बीजेपी ने कहा कि अमित शाह ने अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षण खत्म करने को लेकर कोई बात नहीं की है। जो वीडियो वायरल किया जा रहा है वह फर्जी है। बीजेपी ने आरोप लगाया कि मूल वीडियो में अमित शाह तेलंगाना में मुसलमानों को के लिए असंवैधानिक आरक्षण को हटाने पर चर्चा की थी।

दिल्ली पुलिस ने फेसबुक और X से मांगी जानकारी
दिल्ली पुलिस ने गृहमंत्री के एडिटेड वीडियो को लेकर X और फेसबुक को लेटर लिखा है। साथ ही दोनों सोशल मीडिया प्लेटफार्म से जानकारी मांगी है कि ये एडिटेड वीडियो किस अकाउंट से पोस्ट किया गया है।

अमित मालवीय ने तेलंगाना कांग्रेस पर लगाया आरोप
बीजेपी के आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने 27 अप्रैल को तेलंगाना कांग्रेस की ओर से शेयर किए गए इस फेक वीडियो को एक्स पर पोस्ट किया। उन्होंने कहा कि तेलंगाना कांग्रेस एडिटेड वीडियो फैला रही है, जो पूरी तरह से फेक है। इससे बड़े पैमाने पर हिंसा होने की आशंका है।

उन्होंने आगे कहा कि गृहमंत्री अमित शाह ने इसी आधार पर मुसलमानों को दिए गए असंवैधानिक आरक्षण को हटाने की बात कही है। एससी/एसटी और ओबीसी की हिस्सेदारी कम करने के बाद यह फर्जी वीडियो कई कांग्रेस नेताओं द्वारा शेयर किया गया है, अब वह कानूनी कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

ये खबर भी पढ़ें …

रश्मिका मंदाना से जुड़े डीपफेक मामले में FIR दर्ज: दिल्ली पुलिस ने मेटा को लिखा लेटर, वीडियो शेयर करने वाले का URL मांगा

साउथ एक्ट्रेस रश्मिका मंदाना के डीपफेक वीडियो मामले में दिल्ली पुलिस ने एक FIR दर्ज की है। न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, स्पेशल सेल पुलिस मामले की जांच कर रही है। इसके साथ ही पुलिस ने मेटा कंपनी (फेसबुक-इंस्टाग्राम) से उस खाते का URL (यूनिफॉर्म रिर्सोस लोकेटर) मांगा है, जिससे एक्ट्रेस रश्मिका मंदाना का डीप फेक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया गया था। पूरी खबर पढ़ें …

खबरें और भी हैं…